Fill in your details
CAPTCHA code
जब आप FASTag सुविधा का उपयोग करते हैं तो टोल टैक्स देना आसान हो जाता है। एक नए सरकारी नोटिफिकेशन के अनुसार, दिसंबर 2019 से सभी वाहनों के लिए FASTag अनिवार्य होगा। नया FASTag कार्ड खरीदने के लिए लोग पेवर्ल्ड पोर्टल पर लॉगिन सकते हैं या यदि उनके पास पहले से ही FASTag कार्ड है तो वे इसे आसानी से पोर्टल से रिचार्ज कर सकते हैं बिना किसी परेशानी के।

FAQs

1. FASTag क्या है?
आप यह जानना चाहते होंगे कि फास्टैग क्या है। तो आइए जानते हैं कि फास्टैग क्या है। FASTag को आमतौर पर इलेक्ट्रॉनिक तरीके से टोल इकठ्ठा करने के सिस्टम के रूप में जाना जाता है। भारत में इसे पहली बार भारत में वर्ष 2014 में शुरू किया गया था। आप थोड़ा तो जान गए होंगे कि फास्टैग क्या होता है पर आइए और अच्छे से जानते हैं कि व्हाट इस फास्टैग। FASTag को एक तरह के रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टैग के रूप में भी जाना जाता है। इसका उपयोग सरकार द्वारा सभी ड्राइवरों को टोल वसूलने और उससे मिलने वाली छूट को प्रदान करने के लिए किया जाता है तो अब आप जान गए न कि व्हाट इस फास्टैग। इन सभी सुविधाओं को देने के लिए सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल प्लाजा लेन पर इलेक्ट्रॉनिक कनेक्शन लगाए हैं जोकि अपने आप ही टोल वसूलने का काम करते हैं। इससे ड्राइवर को लंबी कतारों में नहीं जूझना पड़ता है और उन्हें अपना समय तथा ईंधन बचाने में मदद मिलती है। आपको पता चल गया होगा कि फास्टैग क्या है हिंदी में भी पर इसके अलावा और बताएं तो ड्राइवरों को टोल भरने के लिए साथ में पैसा रखने के झंझट से छुट्टी मिलती है पर इसके लिए FASTag को रिचार्ज करना पड़ेगा जिसमें से ऑटोमैटिक टोल कट जाया करेगा। आप यह जान चुके हैं कि फास्टैग क्या है या फास्टैग क्या होता है तो आइए जानते हैं कि फास्टैग कैसे बनाये।
2. FASTag एजेंट कैसे बनें?
आप यह अच्छी तरह जान गए हैं कि फास्टैग क्या होता है तो अब आप यह जानना चाहते होंगे कि फास्टैग कैसे बनाये तो आइए जानते हैं। आपको यह भी पता चलेगा कि फास्टैग कहा से मिलेगा। FASTag एजेंट बनना बहुत अधिक मुश्किल नहीं है। FASTag एजेंट बनने के लिए निम्नलिखित बातें जरूरी है 1) फास्टैग एजेंट बनने के लिए कंप्यूटर का सामान्य ज्ञान होना जरूरी है। यह बहुत जरूरी है क्योंकि आपको ऑनलाइन लेनदेन करना होगा, रिचार्ज करना होगा और सभी तरह के लेनदेन की जांच भी करनी होगी। 2) अगर कोई भी व्यक्ति फास्टैग एजेंट बनना चाहता है, तो उसके पास अपना खुद का कंप्यूटर, बायोमेट्रिक डिवाइस और एक प्रिंटर होना चाहिए। FASTag एजेंट के लिए ये सामान्य सी जरूरतें हैं जोकि होनी जरूरी हैं। अगर आपके पास ये सारा सामान होगा तभी आप FASTag एजेंट बन सकते हैं और इससेे जुड़े काम कर सकते हैं। अब आप जान चुके होंगे कि फास्टैग कैसे बनाये। और फास्टैग कार्ड कैसे बनाये। 3) FASTag एजेंट बनने के लिए आपको कमसे कम 50,000 रुपए का इन्वेस्ट करना जरूरी होगा। आप फास्टैग कैसे बनाए हिंदी में जान ही गए होंगे और साथ ही यह भी जान गए होंगे कि फास्टैग कीमत कितनी है और फास्टैग कहा से मिलेगा।
3. FASTag Agent कौन बन सकता है?
आप यह जान चुके हैं कि फास्टैग कैसे बनाये तो आइए जानते हैं कि FASTag एजेंट कौन बन सकता है - कोई भी व्यक्ति जो कि उस एरिया में काम करने में अपनी रुचि रखता है और उसकी बहुत सारे लोगों से जान पहचान है या बहुत अधिक लोगों तक उसकी पहुंच है तो वह FASTag एजेंट बन सकता है। पर FASTag डीलरशिप में उन लोगों को प्राथमिकता दी जाती है जोकि उससे जुड़ी सभी चीजों को जानते हैं और जो पहले से ही RTO एजेंट, कार डीलर या ट्रांसपोर्टर के रूप में काम कर चुके हैं या कर रहें हैं। FASTag एजेंट रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ दस्तावेजों की जरूरत होती है, जैसे कि आईडी प्रूफ जोकि ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट और आधार कार्ड हो सकता है। एक FASTag एजेंट बनने के इच्छुक व्यक्ति को FASTag एजेंट के लिए एप्लीकेशन के साथ निम्नलिखित जरूरी कागज भी जमा करने होंगे 1.आप जिस भी गाड़ी का FASTag टैग लगवाना चाहते हैं उसका मूल पंजीकरण प्रमाणपत्र यानि आरसी (RC) लाना जरूरी होगा। 2. सुविधा के लिए और पहचान के लिए पहचान पत्र के साथ मालिक की एक पासपोर्ट साइज फोटो भी लेकर आएं। 3.केवाईसी से जुड़े कागज। जी इसलिए जरूरी है क्योंकि केवाईसी अलग-अलग तरह की होती है जैसे पर्सनल और कॉर्पोरेट। जब आप अपना आवेदन सभी दस्तावेजों के साथ जमा कर देंगे तब, एजेंसी के माध्यम से FASTag ऑनलाइन पोर्टल पर एक अकाउंट बनाया जाता है। उसमें आवेदक यानी इच्छुक व्यक्ति FASTag लॉगिन आईडी से लॉगिन करके करके खुद को FASTag एजेंट के रूप में पंजीकृत कर सकता है। लॉग इन करने के बाद आप वहां से एक यूनिक यूजर आईडी और पासवर्ड भी जेनरेट कर सकते हैं जिससे आपको बाद में परेशानी न हो। ग्राहकों की समस्याओं और उनकी मुश्किलों को आसान बनाने के लिए ग्राहक सेवा केंद्र के कर्मचारी हमेशा आपकी सेवा के लिए तत्पर हैं।
4. FASTag के उपयोग के क्या लाभ हैं?
आप यह जान गए होंगे फास्टैग रिचार्ज कैसे करें हिंदी में या फिर फास्टैग में रिचार्ज कैसे करें और साथ ही आइए जानते हैं कि फास्टैग कैसे काम करता है। तो आइए जानते हैं कुछ और जानकारियां। NHAI FASTag पर नियंत्रण रखता है और उसकी संचालित करता है। इसलिए राष्ट्रीय राजमार्ग टोल प्लाजा पर FASTag कार्यक्रम को लागू करने के बाद से परिवहन क्षमता कई गुना बढ़ गई है और इससे पता चलता है कि फास्टैग कीमत कितनी अधिक है। इस बदलाव से माल और यात्रियों की आवाजाही पर तेजी से काम हुआ है और समय की बचत हुई है। FASTag से और भी कई लाभ होते हैं जैसे कि - ईंधन और समय की बचत FASTag के माध्यम से टोल प्लाजा में बिताए जाने वाले समय को कम किया जा सकता है जिससे ईंधन और समय दोनों की बचत होती है। टैग रीडर फास्टैग के टैग वाले वाहन को आसानी से पहचान लेता है और इसलिए उन्हें नकद लेनदेन के लिए टोल प्लाजा पर रुकने की जरूरत नहीं होती है और उन्हें टोल प्लाजा के जाम से मुक्ति मिलती है। इसी वजह से समय और ईंधन की बचत भी होती है। ईंधन और पैसे की बचत फास्टैग कीमत के बारे में हमें बताती है। लेनदेन होने पर एसएमएस अलर्ट FASTag को इस्तेमाल करने वाल व्यक्ति उससे हुई सभी तरह की लेनदेन पर नज़र रख सकता हैं क्योंकि उनके अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस अलर्ट के माध्यम से भी सभी अपडेट मिलते हैं। पर जब उनके मोबाइल फोन पर सब कुछ उपलब्ध है, इसलिए उन्हें हर चीज पर नजर रखने की जरूरत नहीं है। सब कुछ बस एक क्लिक की दूरी पर और वह भी बेहद आसानी से है। ऑनलाइन रिचार्ज की सुविधा FASTag को इस्तेमाल करने वाल व्यक्ति डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, NEFT या नेट बैंकिंग के माध्यम से या फिर ऑनलाइन रिचार्ज के माध्यम से अपने FASTag खातों को बहुत जल्दी और आसानी से रिचार्ज कर सकता हैं। ऑनलाइन रिचार्ज का प्रोसिजर आपके मोबाइल रिचार्ज करने जितनी ही आसान है। ना तो इसमें की परेशानी है और ना तो इसका प्रोसीजर बहुत कठिन है। कैश साथ ले जाने की जरूरत नहीं FASTag आपको टोल प्लाजा पर लंबी लाइनों में खड़े होने से बचाता है और FASTag का इस्तेमाल करने वाले व्यक्तियों को टोल का पेमेंट करने के लिए अपने साथ नकद रखने की भी आवश्यकता नहीं है। नगद लेनदेन में थोड़ा समय लग सकता है जिससे आप के समय की देरी हो सकते हैं जबकि FASTag लेनदेन में समय नहीं लगता है और यह तुरंत हो जाता है। ग्राहकों के लिए वेब पोर्टल की सुविधा FASTag के उपभोक्ताओं के लिए केवल FASTag के कस्टमर पोर्टल में लॉग इन करके अपने स्टेटमेंट तक आपकी पहुंच को आसान बनाता है। अब आप यह जानना चाहते होंगे कि फास्टैग रिचार्ज कैसे करें या फास्टैग रिचार्ज ऑनलाइन कैसे करें। तो आइए जानते हैं कि फास्टैग रिचार्ज कैसे करें या फास्टैग रिचार्ज ऑनलाइन कैसे करें।
5. FASTag के खाते को कैसे रिचार्ज करें?
आइए आपको बताते हैं कि फास्टैग रिचार्ज कैसे करें या फास्टैग रिचार्ज ऑनलाइन कैसे करें। आपके पास FASTag के अकाउंट को रिचार्ज करने के लिए कई विकल्प होते हैं और फास्टैग ऑनलाइन रिचार्ज बहुत ही आसान होता है। FASTag के खातों को रिचार्ज करने के लिए चेक/क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/एनईएफटी या नेट बैंकिंग का इस्तेमाल किया जा सकता है। FASTag में अधिकतम रीचार्ज एक लाख रुपए तक का किया जा सकता है। अब आप यह जान गए होंगे कि फास्टैग का रिचार्ज कैसे करें। रिचार्ज का पूरा प्रोसीजर अलग अलग एजेंसी का अलग अलग हो सकता है इसलिए उससे संबंधित उससे संबंधित एजेंसी के बारे में जाएं और रिचार्ज के लिए अपनाए जाने वाले विभिन्न स्टेज का पालन करें। पूरी प्रक्रिया के दौरान सावधानी बरतें। आप जान गए होंगे कि फास्टैग में रिचार्ज कैसे करें और फास्टैग कैसे काम करता है। अगर ऑफिशियल ऐप के माध्यम से रिचार्ज किया जाए तो रिचार्ज करने का पूरा प्रोसेस बहुत ही आसान है। आप जान चुके होंगे कि फास्टैग रिचार्ज कैसे करें या फास्टैग रिचार्ज ऑनलाइन कैसे करें।
6. पेवर्ल्ड इंडिया का कमीशन स्ट्रक्चर फास्टैग रिटेलर के लिए कैसे काम करती है?
आप यह अच्छे तरीके से जान गए होंगे कि फास्टैग या फास्ट्रैक का रिचार्ज कैसे करें और फास्टैग कहां से खरीदें। जब भी कोई ग्राहक FASTag कार्ड रिटेलर के माध्यम से Payworld सर्विस का इस्तेमाल करता है, तो FASTag रिटेलर लेनदेन का एक प्रतिशत लाभ डायरेक्ट कमाता है। Payworld रिटेलर्स को एक बहुत ही अच्छी सुविधा देता है जोकि मार्केट में कोई और नहीं देता और वह है उसका यूनिक कमीशन स्ट्रक्चर। उदाहरण के लिए कोई ग्राहक 100 रुपये का रिचार्ज करवाता है तो पेवर्ल्ड सभी तरह के मोबाइल रिचार्ज पर लगभग 0.5% -3% का FASTag एजेंट कमीशन देने का काम करता है। इसलिए एक FASTag रिटेलर को हर एक ट्रांजैक्शन पर 50 पैसे से 3 रुपये तक की कमाई कमीशन के रूप में होती है। सीधे और सरल शब्दों में कहें तो, जितने अधिक लेन-देन किए जाएंगे, FASTag एजेंट का कमीशन उतना ही अधिक होगा।
7. मुझे पेवर्ल्ड के बारे में और बताएं।
पेवर्ल्ड की शुरुआत सेमी अर्बन इंडिया समेत अनेकों ग्राहकों के लिए एक सुरक्षित और कस्टमर के अनुकूल एक मंच या कहें कि माध्यम प्रदान करने के उद्देश्य से की गई है। पेवर्ल्ड की स्थापना 2006 में की गई थी और अब तक पूरे भारत के 630 जिलों में 250,000 से अधिक रिटेलरों तक इसका नेटवर्क फैल चुका है। पिछले कई रिपोर्टों में पता चला है कि इस प्लेटफॉर्म की सहायता से प्रतिदिन 200,000 से अधिक लेनदेन किए जाते हैं। पेवर्ल्ड की मदद से उपयोगकर्ता एईपीएस, मनी रेमिटेंस, मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज, बीबीपीएस बिल पेमेंट, लोन, बीमा, म्यूचुअल फंड जैसी कई अन्य सेवाएं भी ले सकते हैं और अब इसमें FASTag भी जुड़ गया है। यह वो सारी सुविधाएं देता है जोकि एक मध्यवर्गीय व्यक्ति को चाहिए होती है। Payworld में 50,000 से अधिक एजेंट काम करते हैं जिन्हें इस कठिन समय में इमरजेंसी सर्विस को पहुंचाने के कारण इमरजेंसी सर्विस प्रोवाइडर के रूप में जाना जाता है। ये भारत के लोगों की वित्तीय मांगों को पूरा करने का काम करते हैं। एजेंटों ने इतनी मुश्किल समय में 25 मिलियन कस्टमर तक अपनी पहुंच बनाई जो कि बहुत बड़ी उपलब्धि है। हमें यह बताते हुए गर्व हो रहा है कि हमारी टीम जहां भी है जैसे भी है वह आवश्यक सेवाओं को पहुंचाने के लिए पूरी तरह से तत्पर है और भारतवासियों की सहायता करने के लिए दृढ़ प्रतिज्ञ है।