Fill in your details
CAPTCHA code
आधार अधिकृत भुगतान सेवा के बारे में
एक एटीएम बनिए और किसी को भी बॉयोमीट्रिक्स के माध्यम से पैसे निकालने की अनुमति दें
जब आपकी सभी बैंकिंग जरूरतों के लिए आपके पास पेवर्ल्ड (Payworld) रिटेल टचपॉइंट नेक्स्ट डोर हैं तो अपने बैंक की तलाश में क्यों जाएँ? आधार अधिकृत भुगतान सेवा (एईपीएस), ग्राहकों के हस्ताक्षर या डेबिट कार्ड की जानकारी के बजाय आधार की जानकारी और बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण का उपयोग करता है और उन्हें अपनी बैंक शाखा में जाए बिना जल्दी से निकासी, जमा और नकद हस्तांतरण और बैंक विवरण तक पहुँचने की अनुमति देता है। इसलिए, एटीएम या बैंक शाखा की खोज करने के बजाय, ग्राहक अपने निकटतम पेवर्ल्ड (Payworld) रिटेल टचपॉइंट पर जा सकते हैं और अपने आधार डेटा और बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण का उपयोग करके इन सभी लेनदेन को कर सकते हैं।

नकद निकासी

नकद जमा

शेष राशि की जाँच करें

मिनी-स्टेटमेंट

सेवा के लाभ

तुरंत सेवा एक्टिवेशन

प्रति माह 10,000 तक कमाने का अवसर

मुनाफे का तुरंत भुगतान किया जाता है

बैंक अवकाश पर भुगतान सुविधा

बायो-मीट्रिक उपकरणों के प्रकार का चयन कीजिए

एईपीएस के लिए एकाधिक बैंकों के बीच स्विच करें

100 - 10,000 के बीच निकासी सीमा

अपनी एईपीएस सेवा की शुरुआत कैसे करें:

एईपीएस सेवा का चयन करें

आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें

सेवा के एक्टिवेशन पर उपकरण को जोड़ें

धन की शुरुआत करें और कमाई चालू करें

FAQs

1. पेवर्ल्ड इंडिया के साथ एईपीएस सेवाओं का उपयोग कैसे शुरू किया जाता है?
पेवर्ल्ड सबसे अच्छा एईपीएस पोर्टल है। एईपीएस सेवाओं के साथ शुरुआत करने के लिए नीचे बताई गई बातों का पालन करें: 1) एईपीएस सेवा खरीदें: सबसे पहले, एक व्यक्ति को अपने ब्राउज़र पर आधार माइक्रो एटीएम नियर मी सर्च करने की जरूरत होगी जिसके बाद नजदीकी रिटेलर टचपॉइंट पर जाकर एईपीएस सेवा खरीदने की जरूरत होती है। 2) जरूरी दस्तावेज अपलोड करना: एक व्यक्ति को अपना आधार नंबर देना होता है, जो उसके एईपीएस सेवा देने वाले बैंक के खाते से जुड़ा होना चाहिए। आधार नंबर के साथ, आपको उस बैंक का नाम भी देना होगा जिससे आपका आधार जुड़ा हुआ है। 3) सर्विस एक्टिवेशन पर मैप डिवाइस: अपने सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने के बाद, बायोमेट्रिक मशीन का उपयोग करके आपको फिंगरप्रिंट लिया जाता है। इसके बाद जानकारी को सत्यापित करने के लिए एनपीसीआई को भेजा जाता है। 4) कमाई और लेन-देन शुरू करें: एक बार जब आपका एईपीएस एजेंट पंजीकरण एनपीसीआई द्वारा प्रमाणित हो जाता है, तो आप अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं यह पूरा सिस्टम एक तरह से आधार कार्ड से पैसे निकालने वाली मशीन यानी आधार एटीएम की तरह काम करती है। इसके अलावा एईपीएस डिजिटल इंडिया पेमेंट लिमिटेड के साथ अधिक कमीशन कमा सकते हैं।
2. पेवर्ल्ड इंडिया में एईपीएस सेवाओं का उपयोग करने के क्या लाभ हैं?
आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के इतने अधिक लाभ है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है। इसके बारे में बहुत अधिक नहीं सोच सकता है कि एईपीएस एजेंट पंजीकरण मुफ्त है या नहीं। एक बार जब आप एईपीएस पंजीकरण करवा लेते हैं तो आप नीचे बताए गए लाभ को लेने में सक्षम होते हैं: एईपीएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से एईपीएस सेवा वेब और इसके अलावा एईपीएस ऐप मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से उपलब्ध है। AEPS बैंकिंग में रिटेलर और एजेंट को सर्वश्रेष्ठ मार्जिन प्रदान करता है और आधार माइक्रो एटीएम प्राइस भी अच्छा देता है। एईपीएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से एईपीएस बैंकिंग में तत्काल भुगतान सुविधा भी उपलब्ध है। तत्काल सेवा एक्टिवेशन की सुविधा है। ट्रांजेक्शन के दौरान बहुत कम फेल होना। ऐसा मामला बहुत ही दुर्लभ जहां लेनदेन फेल हो गया हो और अकाउंट से पैसे कट गए हों। सभी मशीनें पर पेवर्ल्ड वेब/मोबाइल काम करता है। एईपीएस सॉफ्टवेयर के लिए अच्छा कस्टमर केयर टीम सपोर्ट / एमआईआरए ऑटो सपोर्ट शिकायत करने की आसान सुविधा / शिकायत समाधान बहुत जल्दी एईपीएस पोर्टल के साथ, ग्राहक प्रत्येक लेनदेन के बाद एईपीएस सेवा प्रदाता बैंक से एक मिनी स्टेटमेंट भी ले सकता है। एईपीएस भुगतान प्रणाली आपको अपने बैंक खातों से पैसे जमा करने के साथ-साथ ही एईपीएस नकद निकालने की भी सुविधा देती है। इन लेनदेनों को करने के लिए, AEPS पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।
3. एईपीएस एक बिजनेस का अवसर क्यों है?
AEPS का मतलब है आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम है और एक समर्पित AEPS सेवा प्रदाता अपने ग्राहकों को अपने आधार कार्ड से भुगतान को सुरक्षित और आसान बनाने का काम करता है। एईपीएस - एक बड़े बिजनेस का अवसर? भारत को दक्षिण अफ्रीका, चीन आदि देशों के साथ एटीएम पेनेट्रेशन को मिलाने के लिए कम से कम 2 करोड़ + आधार माइक्रो एटीएम की जरूरत होगी। 2.38 लाख एटीएम मशीनों में से आधे पूरे भारत की आबादी के लिए भी पूरा नहीं पड़ेंगे। मनरेगा मजदूरी, गैस सब्सिडी आदि जैसे योजना के माध्यम से नागरिक बैंक खातों में सीधे सरकार लाभ को दे रही है जिसे नागरिक आधार कार्ड पेमेंट का इस्तेमाल करके निकाल सकते है। हालिया बजट में सरकार ने 14 करोड़ किसानों को 6000/- रुपये देने का प्रस्ताव किया है। 2000/- रुपये की पहली किस्त मार्च में जमा होगी। इसको निकालने के लिए संभव है कि अधिकतर किसान आधार पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल करें। सरकार 34 करोड़ जनधन खातों में 2000/- रुपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा दे रही है। राज्य और केंद्र सरकार द्वारा विभिन्न पेंशन योजनाएं भी दी जाती है। AEPS क्या है ? इसका मतलब है लाखों आम लोगों और व्यापारियों को मजबूत बनाना है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन, नरेगा वृद्धावस्था पेंशन आदि जैसी कई सरकारी योजनाओं को भी AEPS पोर्टल के माध्यम से बहुत आसानी से उपयोग में लाया जा सकता है बल्कि एक तरह से यह आधार पेमेंट बैंक बन गया है। एईपीएस ऐप, एईपीएस सॉफ्टवेयर या एईपीएस पोर्टल के साथ आपके पास मनी ट्रांसफर के उद्देश्य से अपने बैंक को दूसरे बैंक में बदलने की सुविधा है कहा जा सकता है कि यह आधार कार्ड बैंक की तरह काम करता है।
4. आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम में क्या संभावनाएं है?
उद्देश्य:- उनकी सेवा करना जिन तक सेवा नहीं पहुंची है। इसके अलावा सार्वजनिक बैंकिंग सेवाओं के बुनियादी ढांचे को बढ़ाना। एईपीएस क्या है? बायोमेट्रिक के माध्यम से ग्राहक के फिंगरप्रिंट सत्यापन करना। यह कैसे काम करता है? एजेंट या खुदरा विक्रेता सत्यापन के बाद Payworld AEPS APP/PW का उपयोग करते हैं। सेवाएं: - एईपीएस नकद निकासी और बची हुई राशि पूछताछ और जल्द ही आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहकों के लिए जमा सुविधा भी शुरू करने जा रहें है। पर यह माइक्रो एटीएम आधार से जुड़ा होना चाहिए और बैंक का भी आधार से जुड़ा होना जरूरी है। निकासी की सीमा:- हरेक बार में 10,000 रुपये और वो भी बिना किसी दैनिक सीमा के* इस सर्विस के लिए मैप किए गए बैंक की संख्या:- सेवा देने वाले बैंकों की संख्या है 118 । (99% बैंक खातों को कवर किया गया) लेन - देन करने में लगने वाली लागत:- ग्राहक के लिए निशुल्क है। मर्चेंट या बीसी को आपसी समझौते के अनुसार बैंक से कमीशन मिलता है।
5. एईपीएस क्या है?
AEPS फुल फॉर्म है आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम जो कि भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम द्वारा बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को 'आधार' का उपयोग करके दी जाने वाली एक नई भुगतान सेवा सेवा है। आधार भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) द्वारा जारी एक विशिष्ट पहचान पत्र है और इसमें एक विशिष्ट नंबर भी है। बैंकिंग में एईपीएस का अर्थ है जहां बैंक अपने बैंक के ग्राहक को अपने आधार नंबर के माध्यम से बैंक खाते (एईपीएस सेवा देने वाले बैंक) तक पहुंचने और बुनियादी लेनदेन करने के लिए अनुमति देता है जहां आधार का उपयोग अपनी पहचान के रूप में किया जाता है। इस तरह की सेवा ग्राहकों को सशक्त बनाती है। बैंक एईपीएस के माध्यम से कई सेवाएं देता है, जिसमें शामिल हैं - बैलेंस की पूछताछ, नकद जमा करना, नकद निकासी और नकद भेजें। आधार माइक्रो एटीएम की तरह काम करता है। किसी भी तरह के लेनदेन के लिए, खुदरा विक्रेता ग्राहकों से उनकी आधार संख्या मांगते हैं और पेवर्ल्ड एईपीएस सॉफ्टवेयर से जुड़े बायोमेट्रिक स्कैनर का उपयोग करके ग्राहक के फिंगरप्रिंट को स्कैन करते हैं। आधार के पूरी तरह वेरिफाई होने पर ही लेनदेन सफल होगा। बैंकिंग की एईपीएस सेवा आपको बिना किसी परेशानी के आधार कार्ड से भुगतान करने में सक्षम बनाता है। पर आप आधार कार्ड से भुगतान की सुविधाओं का लाभ तभी ले सकते है जब आपके पास एईपीएस पंजीकरण होगा। आपके मन में कई तरह के सवाल आ रहें होंगे कि क्या एइपीएस पर फ्री में पंजीकरण होता है ? या आधार माइक्रो एटीएम क्यों कहा जाता है ? ऐसे ही कई अन्य सवालों के लिए आगे पढें।